अगर WhatsApp पर करते हैं ग्रुप चैट्स तो हो जाएं सावधान अनजान यूजर्स पढ़े सकते है मैसेज

By | February 23, 2020

आजकल WhatsApp पर ग्रुप में चैटिंग करना काफी मजेदार होता है अक्सर लोग अपने दोस्तों, फैमिल मैंबर्स और ऑफिस कलीग्स के ग्रुप में चैटिंग करते हैं, लेकिन क्या आप जानते हैं कि इन ग्रुप्स में चैटिंग करने से आपके WhatsApp की प्राइवेसी खत्म हो सकती है अगर नहीं तो आज हम आपको बताते हैं कि कैसे कोई दूसरा व्यक्ति आपके मैसेज को आसानी से पढ़ सकता है. 

खत्म हो सकती है प्राइवेसी

ग्रुप एडमिन्स मेंबर ऐड करने के लिए वॉट्सऐप के ‘Invite to Group via Link’ फीचर का इस्तेमाल करते हैं अगर यह इन्वाइट लिंक प्राइवेट नहीं होगा तो आपकी प्राइवेसी खत्म होने का खतरा बढ़ जाएगा. इसके अलावा अगर कोई भी यूजर इस लिंक को इंटरनेट पर गलत जगह शेयर कर दें तो यह आपके लिए परेशानी का भी कारण बन सकता है. 

कोई भी कर सकता है डेटा एक्सिस

बता दें कि ऑनलाइन शेयर किए गए वॉट्सऐप ग्रुप इन्वाइट लिंक को गूगल आसानी से खोज सकता है और अगर ये लिंक किसी गलत यूजर के हाथ लग जाए तो वह आपके प्राइवेट वॉट्सऐप ग्रुप को जॉइन करके डेटा ऐक्सेस कर सकते हैं. 

जॉर्डन विल्डन की पत्रकार ने बताई कमी

वॉट्सऐप की इस बड़ी खामी के बारे में सबसे पहले जॉर्डन विल्डन नाम की एक पत्रकार ने बताया था. जॉर्डन विल्डन ने अपने ट्वीटर पर ट्वीट करके इसके बारे में बताया था उन्होंने बताया कि ‘Invite to Group via Link’ के URL को अगर गूगल इंडेक्स करता है तो कोई भी आपके सही सर्च टर्म के जरिए इसे आसानी से ढूंढ सकता है. 

किसी को भी मिल सकती है जानकारी

ग्रुप चैट लिंक बेस यूआरएल के तौर पर chat.whatsapp.com का इस्तेमाल करते हैं, जिसे गूगल पर साइट मॉडिफायर के जरिए आसानी से सर्च किया जा सकता है. इसके अलावा अगर कोई भी यूजर किसी ग्रुप को जॉइन कर लेगा तो वह उसकी सभी चैट्स और नंबर के बारे में जानकारी ले सकता है.

एक्सपर्ट्स ने दी जानकारी

एक्सपर्ट्स ने बताया कि इस प्राइवेसी के इश्यू में गूगल या किसी भी अन्य सर्च इंजन की कोई गलती नहीं है यह कमी WhatsApp की ओर से है कंपनी को यूजर्स की प्रिवेसी को सिक्यॉर रखने के लिए ‘noindex’ जैसे मेटा टैग का इस्तेमाल करना चाहिए, जिससे यूजर्स की प्राइवेसी बनी रहे