What is Smoking, How Does smoking Get Used, How To Quit Smoking?

By | April 2, 2021

स्मोकिंग क्या है, स्मोकिंग की आदत कैसे लगती है, स्मोकिंग कैसे छोड़ें? :- आजकल आधे से अधिक लोग कोई न कोई नशा जरूर करते हैं इसमें से एक है धूम्रपान, जिसे अंग्रेजी भाषा में स्मोकिंग (Smoking) कहा जाता है। स्मोकिंग का सीधा अर्थ है धुआं लेना। जब आप  कोई सिगरेट या सिगार पीते हैं और इसे जलाते हैं  तो इसके अंदर  की तंबाकू  जलती है और इसके धुएँ को मुंह से  खींचा जाता है। साधारण भाषा में सिगरेट या सिगार पीने को स्मोकिंग कहा जाता है। साल 2019 में हुए एक सर्वे के अनुसार भारत में लगभग 35% लोग नशे के आदी हैं।

कई लोग इसे मजे के लिए पीते हैं तो कई लोग इसके आदि हो जाते हैं। दरअसल सिगरेट या सिगार में तंबाकू भरा होता है, जिसमें निकोटिन (Nicotine) पाया जाता है। सिगरेट पीने से रक्त के प्रवाह के द्वारा निकोटिन शरीर में अवशोषित हो जाता है। यह शरीर में एड्रेनेलिन और डोपामिन हार्मोन्स के लेवल को बढ़ाता है। स्मोकिंग की बढ़ते मांग को देखकर भारत सहित कई देशों में ई-सिगरेट भी लांच की गई थी जिसे अब भारत सहित कई देशों में भी बैन किया जा चुका है। 

तम्बाकू की वजह से हर साल होती हैं लाखों मौतें:

Tobaccoatlas.org की रिपोर्ट के अनुसार भारत में हर साल लगभग 9,32,600 से अधिक लोग तम्बाकू के सेवन या स्मोकिंग के कारण मरते हैं। इसमें से 6,25,000 मौतें 10 से 14 साल के बच्चों की होती हैं। ये आँकड़े काफी चौंकाने वाले हैं, लेकिन इसमें सच्चाई है। इसीलिए हम आपको सलाह देंगे कि आप तम्बाकू या सिगरेट का सेवन बिल्कुल ना करें और किसी और को भी न करने की सलाह दें।

धूम्रपान की लत क्यों लग जाती है?

सबके मन में यह बड़ा सवाल होता है कि आखिर सिगरेट की लत कैसे लग जाती है, तो इसके बहुत से कारण हैं जिसके बारे में हम आपको नीचे बताने जा रहे हैं।

  1. मानसिक शांति के कारण:

आपने कई लोगों को देखा होगा कि वह काम करते समय या उससे पहले अक्सर सिगरेट पीते हैं। उनका मानना होता है कि इससे उनको मानसिक शांति मिलती है और ऐसा होता भी है वे सिगरेट पीने के बाद और अधिक फुर्ती से काम करते हैं और उनको काम करने में मन भी लगता है। यही कारण है कि जब कोई व्यक्ति अधिक चिंता या तनाव में रहता है तो वह सिगरेट पीकर अपने आप को चिंता या तनाव मुक्त करता है।

  1. मजे के कारण:

कई व्यक्ति मजे के कारण स्मोकिंग करने लगते हैं। जैसे यदि किसी व्यक्ति ने उनसे स्मोकिंग करने को कहा तो वह तुरंत तैयार रहते हैं जबकि सिगरेट पीने वाला हर व्यक्ति यह जानता है कि इसको पीने से उनके शरीर पर कितना बुरा प्रभाव पड़ेगा सिगरेट के पैकेट में भी यह साफ-साफ लिखा होता है की इसको पीने से कैंसर हो सकता है। लेकिन फिर भी वे मजे के लिए स्मोकिंग करते हैं।

  1. लोगों के कहने पर:

कई लोग लोगों के कहने पर सिगरेट पीना शुरू कर देते हैं। जैसे यदि आप सिगरेट नहीं पीते हैं और आपका कोई दोस्त सिगरेट पीता है तो वह आपको पीने के लिए बार-बार उकसाता है। यही कारण है कि लगभग सिगरेट पीना शुरू करने वाला हर व्यक्ति पहले अपने दोस्त या किसी करीबी के कहने पर ही स्मोकिंग शुरू करता है।

  1. आदत लगने की वजह से:

कई व्यक्ति सिगरेट पीने के इतने आदी हो जाते हैं कि जब तक उन्हें सिगरेट ना मिले तब तक उनको चैन नहीं आता है या ये सकते हैं कि उनको सिगरेट की पूरी तरह से आदत लग चुकी है। ऐसे में वह सुबह से शाम तक कई सिगरेट पीना शुरू कर देते हैं। हालांकि वह शरीर के लिए काफी नुकसानदायक है। लेकिन फिर भी यदि किसी व्यक्ति को किसी चीज की आदत लग जाती है तो वह उसे छोड़ नहीं पाता है। यही कारण है कि भारत में या विदेश में भी सिगरेट पीने के वाले लोगों में लगातार बढ़ोतरी हो रही है।

6 Tips for Growing a Successful Business

  1. वजन नियंत्रित करने के लिए:

जैसा कि आप सभी जानते होंगे कि सिगरेट पीने से हमारे शरीर को काफी नुकसान होता है और इससे हमारा वजन भी कम हो जाता है। वजन कम होने का सबसे बड़ा कारण यह है कि हमारा शरीर कमजोर हो जाता है। कई लोग इसका गलत अर्थ निकाल कर सिगरेट पीना शुरू कर देते हैं कि इससे हमारा वजन कम होगा। विश्व में लगभग 0.89% लोग वजन कम करने के लिए सिगरेट पीते हैं।

स्मोकिंग के नुकसान:

देश की सरकार अक्सर टीवी पर प्रचार और जगह-जगह पर पोस्टर लगाकर सिगरेट या स्मोकिंग ना करने के लिए जागरूक करती है। लेकिन इसके बावजूद भी कई लोग इसका इस्तेमाल करते हैं। भारत सरकार द्वारा जारी गाइडलाइन के अनुसार किसी पब्लिक एरिया में सिगरेट पीना गैर कानूनी है, इससे आपको जेल भी जाना पड़ सकता है और जुर्माना भरना पड़ सकता है। आइए हम आपको स्मोकिंग के नुकसान के बारे में बताते हैं

  1. स्मोकिंग करने से सीने में दर्द होने लगता है। इसका कारण है कि सिगरेट या सिगार पीने से व्यक्ति के सीने में रक्त का प्रवाह सही तरीके से नहीं हो पाता है। इस कारण व्यक्ति को दिल का दौरा भी पड़ जाता है।
  2. स्मोकिंग से गले में दर्द भी होने लगता है और कफ भी बन जाता है, जो आपके लिए अधिक समस्या करता है।
  3. स्मोकिंग करने से साँस की समस्या बढ़ जाती है। इससे एम्फिसिया नामक रोग हो सकता है। सिगरेट पीने वाला व्यक्ति अधिक शारीरिक मेहनत नहीं कर पाता है और उसका साँस फूलने लगता है।
  4. स्मोकिंग करने से किसी चीज को निगलने में कठिनाई होती है। इससे आपको मुँह का कैंसर भी हो सकता है। इसका कारण यह है कि आपके मुँह में हर समय लार भरा रहता है।
  5. स्मोकिंग करने से पेशाब में जलन या पेशाब का कम होना और दर्द कम होना ब्लड कैंसर का कारण बन सकता है।
  6. स्मोकिंग से हमारे फेफड़े कमजोर हो जाते हैं या गल जाते हैं इससे फेफड़े का कैंसर हो सकता है।

सिगरेट पीना कैसे छोड़ें?

अगर आप भी सिगरेट पीने के आदी हो चुके हैं और इसे छोड़ना चाहते हैं तो आप सिगरेट पीने वाले व्यक्तियों से दूर रहें। चुकि आपको लत लग चुकी है इसलिए आप इसे अचानक नहीं छोड़ सकते हैं इसीलिए शुरूआत में आप सिगरेट पीना कम कर दें। इसके बाद धीरे-धीरे उसे छोड़ने पर विचार करें। जब भी आपको सिगरेट पीने की इच्छा करे तो आप कोई च्विंगम चबा लें। शुरुआती समय में अपने दोस्तों और करीबियों को भी समझाएं कि वे आपको सिगरेट के लिए कभी ऑफर ना करें ना ही उकसाएं। हमेशा अपने मुँह में टॉफी या च्विंगम रखे रहें ताकि आपका सिगरेट से ध्यान हटा रहे। अधिक देर तक मीठा मुँह में रखने से सिगरेट का टेस्ट कड़वा लगने लगता है। इससे आपका सिगरेट पीने से मन हटने लगेगा।